May 19, 2022, 11:35 pm
Homeछत्तीसगढ़मौसम अलर्ट: राजधानी सहित प्रदेश में चक्रवाती तूफान का दिखेगा असर, 24...
advertisementspot_img
advertisement

मौसम अलर्ट: राजधानी सहित प्रदेश में चक्रवाती तूफान का दिखेगा असर, 24 घंटे के भीतर भीषण रूप लेगा चक्रवात

advertisement

रायपुर:बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवाती तूफान (Cyclonic storm) का असर (Impact) आज मंगलवार को राजधानी समेत पुरे प्रदेश में देखने को मिलेगा।  (Cyclonic storm) चक्रवात के कारण आज तेज वर्षा होगी। मौसम (Weather Chhattisgarh)   का तापमान काम होगा लेकिन उमस से राहत नहीं मिलेगी।  मौसम विज्ञानियों (meteorologists)  का कहना है चक्रवाती (Cyclonic ) का ज्यादा असर (Impact)  प्रदेश में देखने को नहीं मिलेगा।  केवल बारिश होने से आशंका बताई गई है।  तेज हवा नहीं चलेगी।

चक्रवाती तूफान असानी के उत्तर-पश्चिम की तरफ बढ़ने और अगले 24 घंटें के भीतर एक भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की आशंका है। असानी का असर अब छत्तीसगढ़ के दक्षिणी इलाकों में दिखना भी शुरू हो गया है। बताया जा रहा है कि बस्तर संभाग के कई जिलों में बादल छाए हैं और तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई है। वहीं, मौसम विभाग ने प्रदेश के कई हिस्सों में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश की संभावना जताई है। यह तूफान उत्तर पूर्वी दिशा की तरफ मुड़कर बंगाल की खाड़ी में ओडिशा तट की ओर बढ़ सकता है।

आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय मोहपात्रा ने शनिवार को बताया था कि चक्रवात के ओडिशा या आंध्र प्रदेश के तटीय क्षेत्रों से टकराने की आशंका नहीं है, लेकिन यह समुद्र में तटीय क्षेत्र के पास से गुजरेगा। मौसम विभाग ने कहा कि चक्रवात के तटीय क्षेत्र से टकराए बिना अगले हफ्ते तक कमजोर पड़ने की संभावना है।

विभाग ने कहा है कि मौसम विभाग ने अलर्ट के माध्यम से सूचित किया है कि असानी चक्रवात की उत्पत्ति बंगाल की खाड़ी से हो रही है। इससे पश्चिम बंगाल, ओडिशा, आंध्र प्रदेश के प्रभावित होने की चेतावनी दी गई है। बिहार में भी इसका प्रभाव पड़ सकता है। इसके मद्देनजर ही विभाग ने कहा है कि असानी चक्रवात से उत्पन्न स्थिति के आलोक में बिहार के कई जिलों में तेज या हल्की हवा के साथ हल्की या मध्यम बारिश वज्रपात के साथ होने की संभावना है।

पूर्वांचल के जिलों में बादल, बारिश और तेज हवा का पूर्वानुमान

मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को ओडिशा के तट की तरफ बढ़ रहे ‘असानी’ की गति कुछ धीमी पड़ी है। हालांकि तट तक पहुंचने पर चक्रवाती हवा की रफ्तार 115 किमी प्रति घंटा की रफ्तार पकड़ सकती है और इससे तटवर्ती इलाकों में भारी तबाही की आशंका है। मौसम विभाग ने चक्रवात का असर बिहार तक पड़ने और इसके कारण पूर्वांचल में भी बूंदाबादी या मौसम में बदलाव का अनुमान जारी किया है। मौसम विभाग ने 12 मई को बनारस में अंधड़ और गरज-चमक के साथ बारिश की संभावना जताई है।

advertisement
advertisement
advertisement
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments

advertisement
advertisement
advertisement

Most Popular

Recent Comments

advertisement
%d bloggers like this: