September 30, 2022, 4:15 pm
Homeभारतपति को मृत मानकर पत्नी विधवा बन कर जी रही थी, 22...
advertisementspot_img
advertisement

पति को मृत मानकर पत्नी विधवा बन कर जी रही थी, 22 वर्ष बाद अचानक लौटा पति, जानिए आगे फिर क्या हुआ

advertisement

सुनाई देते हैं जिन्हें सुनकर बड़ी ही हैरानी होती है। आज इस लेख में हम आपको ऐसा ही एक हैरान कर देने वाला किस्सा सुनाने जा रहे हैं। यह कहानी एक ऐसे व्यक्ति की है जो 22 वर्ष पहले अपना घर और परिवार को छोड़कर चला गया था और उसके घर वालों ने उसे मृत मान लिया था। परंतु अब वह व्यक्ति अचानक घर पर वापस आ चुका है उसे देखकर उसके परिवार के सहित सारे गांव के लोग हैरान हो गए। यह घटना झारखंड राज्य के गढ़वा जिले के कांडी प्रखंड की है। बताया जा रहा है कि इस गाव में उदय साव नाम का एक व्यक्ति रहता था। उदय का विवाह भी कराया गया था। उदय अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ रहता था। सांसारिक जीवन से अचानक उदय का मोहभंग हो गया और परिवार वालों को बिना बताए ही उदय घर छोड़कर चला गया। उदय के जाने के बाद उदय के परिवार वालों ने उसे ढूंढने का बहुत प्रयास किया। परंतु बहुत खोजने के बाद भी उदय का कोई अता पता नहीं चला। जिसके बाद उदय के घर वालों ने यह अंदाजा लगाया कि वह मृत हो चुका है।

उदय को मृत मान कर एक विधवा की तरह जीवन यापन करने लगी। उदय के बच्चे भी अनाथ की तरह हो गए। यह घटना आज से करीब 22 वर्ष पहले की है। परंतु अब कुछ ऐसा हुआ जिसे देखकर उदय के परिवार और उसके गांव वालों के होश ही उड़ गए। उदय एक जोगी के भेष में भिक्षा मांगते हुए उसके गांव आ पहुंचा और खुद के ही घर पर जाकर खुद की पत्नी से उसने भिक्षा मांगी। तभी उसकी पत्नी ने उदय को पहचान लिया। उदय मना करता रहा कि वह उदय नहीं है परंतु उसकी पत्नी को पूर्ण विश्वास था कि वह उधर ही है। तभी हड़कंप मच गया और गांव वाले भी वहां पहुंच गए और सभी ने उदय को देखा और उसे पहचान लिया। उदय को देखकर सभी के होश उड़ गए।

वेश में सारंगी बजाता हुआ भिक्षा मांगता घूम रहा था। परिवार और गांव वालों के पूछने पर उन्होंने बताया कि 22 वर्ष पहले उसने घर छोड़कर सन्यास ले लिया था। उदय का कहना था कि अपनी पत्नी से भिक्षा लिए बिना उसका सन्यासत्व सार्थक नहीं हो पाएगा इसीलिए उदय पत्नी से भिक्षा लेने के लिए गांव में वापस आया था।बाद में उदय की पत्नी ने उसे घर पर ही रुकने के लिए बहुत आग्रह किया। गांव वालों ने भी उदय को गांव छोड़कर ना जाने के लिए बहुत आग्रह किया परंतु उदय ने रुकने से मना कर दीया। उदय की पत्नी ने उसे भिक्षा नहीं दी लेकिन उदय उस से भिक्षा लेकर ही गांव छोड़ना चाहता था इसलिए उदय गांव के बाहर ही 1 डिग्री कॉलेज में रुका हुआ है।

advertisement
advertisement
advertisement
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments

advertisement
advertisement
advertisement

Most Popular

Recent Comments

advertisement
%d bloggers like this: