December 2, 2022, 5:35 am
Homeछत्तीसगढ़CG: आज एक और परिवार में फिर मातम छा गया मौत का...
advertisementspot_img
advertisement

CG: आज एक और परिवार में फिर मातम छा गया मौत का कब्रगाह बन रहा सेंदरी – सकरी ( रायपुर ) रोड बाईपास

advertisement

घटना स्थल पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारी की कार्यशैली में संवेदनहीनता नजर आई…

क्षेत्र जिला क्षेत्र के आदिवासी नेता जिला कांग्रेस पदाधिकारी श्री आयुष सिंह राज के महती पहल पर मृतक परिवार और गम्भीर घायल परिवार को घटनास्थल पर पहुंचे संवेदनहीन प्रशासनिक अधिकारियों से तीखी बहस के बाद मुवावजा प्रदाय कराया गया

बिलासपुर-जिला बिलासपुर का यह मामला ग्राम पंचायत सेंदरी स्थित नेशनल हाइवे रोड ( सेंदरी – सकरी रायपुर बाईपास ) का है जो इन दिनों उस स्थान पर हो रही लगातार दुर्घटना के कारण उक्त स्थल आवागमन यात्रियों के लिये मौत का कब्रगाह बन कर सुर्खियों में सामने आ रहा है सम्बंधित कब्रगाह बन रही रोड का मामला यह है कि पिछले एक माह पूर्व उक्त स्थल में ही एक व्यक्ति दुर्घटना में मौत के गाल में समा गया तो कुछ दिन पूर्व ही उसी स्थल पर एक परिवार के व्यक्ति को भी दुर्घटना में मौत का शिकार होना पड़ा इन हो रहे घटनाओं से सकते में आये जिला प्रशासन अधिकारियो द्वारा उक्त संवेदन मौके स्थल में पहुचकर दुर्घटना रोकने हेतु बचाव कार्य करने के लिये निर्देशित तो किया गया था किंतु आज पर्यन्त तक कोई आवश्यक कार्यवाही न होने के कारण ही आज दिनांक 26.10.2022 को फिर से उसी स्थल रोड पर एक गरीब परिवार के व्यक्ति को मौत ने अपने आगोस में लिया और एक गम्भीर रूप से घायल व्यक्ति जीवन से जूझ रहा है इन सब में मामला और अधिक संवेदनहीन बन जाता है।

जब दुर्घटना सेआक्रोशित भीड़ रोड में चक्काजाम करते है तो जिला पुलिस प्रशासन द्वारा रोड खाली कराने हेतु मौजदा जन प्रतिनीधियो से अपील की जाती है और उन्हें आश्वाशन दिया जाता है कि उच्च प्रशासनिक अधिकारी घटना स्थल पर बात सुनने आ रहे है कह कर अवगत कराया जाता है मौजूद पुलिस प्रशासन का सम्मान का सम्मान करते हुये उग्र आक्रोशित भीड़ को मौजूद जन प्रतिनिधियों द्वारा समझाकर चक्का जाम खुलवा दिया जाता है और फिर मौजूद जन प्रतिनिधि द्वारा प्रशासनिक अधिकारियों का घटना स्थल पर इंतजार किया जाता है आने वाले जिला प्रशासनिक अधिकारियों को बार बार कॉल किया जाता है तो उनका सिर्फ एक ही जवाब मिलता है कि जल्द पहुच रहे है समय बीतते हुये लगभग एक डेढ़ घंटे बाद जिला प्रशाशन अधिकारी के रूप में जिला तहसीलदार का आगमन होता है तब जब मौजद जन प्रतिनिधि उक्त घटना के सम्बंध में उन्हें विस्तार से अवगत कराते है और पीड़ित परिवार को तत्कालिक मुआवजा राशि प्रदाय करने हेतु सम्बंध अपनी बात रखते है और उनसे संवेदित घटना में भी इतनी देरी पर आने का कारण पूछा जाता है तो उनके द्वारा कहा जाता है कि उन्हें कुछ और जानकारी मिली थी उन्हें सही जानकारी नही मिल पाई थी वे जल्द ही बाद में पटवारी से कहकर मुआवजा राशि पीड़ित परिवार को प्रदाय करा देंगी क्योकि अभी घटनास्थल का पटवारी छुट्टी में है।

घटनास्थल का मुआयना कर पटवारी रिपोर्ट के बाद पीड़ित परिवार को जल्द सहायता राशि प्रदाय करा दी जायेगी उन्हें मिली गलत जानकारी सही जानकारी के आभाव के चलते उनके पास तत्काल राशि उपलब्ध संभव नही है उनके द्वारा इस प्रकार का किया गया संवेदनहीनता कार्यशैली के बर्ताव पर मौजूद जनप्रतिनिधि आदिवासी-कांग्रेस नेताआयुष सिंह राज के उपस्थित प्रशासनिकअधिकारियो के उपर आक्रोशित दबाव तीखी बहस महती पहल के बाद ही मौजूदा अधिकारियो से ग्राम जलसों निवासी मृत्यु में पीड़ित और घायल परिवारों की मदत स्वरूप उन्हें जिला प्रशासनिक अधिकारियों की जेब से तत्काल मुवावजा राशि प्रदाय कराया जाता है ऐसे संवेदित घटना गमगीन परिस्थितियों में भी जिला प्रशासनिक अधिकारियो का ऐसा बर्ताव संवेदनहीनता को प्रकट करने वाला है अब देखना है कि इन हो रही दुर्घटनाओं से मौत का कब्रगाह बन रही स्थल ( सेंदरी बाईपास – सकरी रायपुर रोड ) में भविष्य में ऐसी दुर्घटनाओ की पुनरावृति की रोकथाम हेतु को जिला शासन प्रशासन कितनी जल्दी और क्या कार्यवाही करते है या फिर संवेदनहीन बने रहकर फिर से अपनी आँख बंद कर लेते है

advertisement
advertisement
advertisement
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments

advertisement
advertisement
advertisement

Most Popular

Recent Comments

advertisement
%d bloggers like this: