June 28, 2022, 2:35 am
Homeछत्तीसगढ़CG; महेंद्र पसायत की 20वीं पुस्तक- राष्ट्रधर्म सर्वोपरि का विमोचन
advertisementspot_img
advertisement

CG; महेंद्र पसायत की 20वीं पुस्तक- राष्ट्रधर्म सर्वोपरि का विमोचन

advertisement

भूपेश मांझी/सराईपाली-पिछले 20 सालों से प्रतिवर्ष 26 जनवरी के दिन महेंद्र पसायत की एक पुस्तक का विमोचन होते रहा है,इसी कड़ी में इस वर्ष भी महेंद्र पसायत की 20 वीं पुस्तक राष्ट्रधर्म सर्वोपरि का विमोचन उनके निवास स्थल में किया गया।इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रुप में श्री सी एम प्रधान व कार्यक्रम अध्यक्ष श्री एस के पसायत के द्वारा किया गया।कार्यक्रम की शुरुआत मां सरस्वती की पूजा अर्चना व माँ भारती के तैलचित्र पर पुष्पांजलि प्रदान कर किया गया।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सी एम प्रधान ने 26 जनवरी की महत्ता का वर्णन करते हुए 1950 की घटना जो जीवन की सार्थकता लिए हुए है,उसे रोचक कहानी के रूप में बताया।कार्यक्रम में प्रेमानंद भोई ने कहानी के रूप में देशभक्ति का बखान किया,कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डॉ.अनिल कुमार प्रधान ने गणतंत्र पर्व का महत्व बताते हुए महेंद्र पसायत जी के प्रकाशित पुस्तक राष्ट्रधर्म सर्वोपरि के बारे में विस्तार से वर्णन किया।

सुन्दर लाल डडसेना”मधुर”ने विमोचित पुस्तक – राष्ट्रधर्म सर्वोपरि की समीक्षा की व स्वरचित देशभक्ति रचना से सबको मंत्रमुग्ध किया।कार्यक्रम में जन्मजय नायक,मानकदास मानिकपुरी व धनीराम नंद मस्ताना अध्यक्ष संस्कार साहित्य मंच भुकेल ने सभा को संबोधित किया।कार्यक्रम में मुख्य रूप से डॉ.अनिल कुमार प्रधान,प्रेमानंद भोई,राकेश साहू, प्रधान प्रबंधक एम डी पब्लिकेशन,सुन्दर लाल डडसेना मधुर,विनोद कुमार जोगी,मानक दास मानिकपुरी,धनीराम नंद मस्ताना,गौरीशंकर साहू,आलोक प्रधान सहित अंचल के साहित्यकार उपस्थित रहे।कार्यक्रम का सफल संचालन शुभ्रा डडसेना ने व आभार प्रदर्शन महेंद्र पसायत ने किया।

advertisement
advertisement
advertisement
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments

advertisement
advertisement
advertisement

Most Popular

Recent Comments

advertisement
%d bloggers like this: