December 2, 2022, 3:55 am
Homeछत्तीसगढ़CG: कोकान घाट आदिशक्ति बूढ़ादेव धाम के उत्तराधिकारी बने बिना खाना के...
advertisementspot_img
advertisement

CG: कोकान घाट आदिशक्ति बूढ़ादेव धाम के उत्तराधिकारी बने बिना खाना के आजीवन निराहार संत स्वामी गौतमानंद

advertisement

रायपुर– आदिवासी समाज के एक ऐसे संत स्वामी गौतमानंद (गौतम सिंह) (नागवंशी मंडावी) जो एक निराहार संत हैं और पिछले 15 अगस्त 2010 से खाना खाना छोड़ चुके हैं लगभग 12 वर्षों से वे बिना भोजन के जीवित हैं। आदिवासी समाज के लिए यह गौरवान्वित का विषय है। इनकी तपस्या को देखते हुए हर कोई कायल है इनकी तपस्या को देखकर बालोद दल्लीराजहरा जिले से लगा कोकान घाट जहां बिराजराम कश्यप जो कि आदिशक्ति बूढ़ादेव धाम विद्यांचल बाबा नर्बदेश्वर महादेव की अब तक देखरेख करते आए थे उन्हें जैसे ही आजीवन निराहार संत स्वामी गौतमानंद के बारे में पता चला तो उन्होंने मिलने की इच्छा जताई और आदिशक्ति बूढ़ादेव धाम में आने का न्यौता दिया जिसे स्वीकार करते हुए स्वामी गौतमानंद ने दल्लीराजहरा कोकान घाट सह परिवार गए। जहां बिराजराम कश्यप ने आदिशक्ति बूढ़ादेव धाम का उत्तराधिकारी बिना भोजन के जिंदा रहने वाले आजीवन निराहार संत स्वामी गौतमानंद (नागवंशी, मंडावी) को अपना उत्तराधिकारी बनाया।

जिसके बाद आजीवन निराहार संत स्वामी गौतमानंद ने न्यूज़ इंडिया बुलेटिन को बताया कि वे आदिशक्ति बूढ़ादेव धाम को बड़े रूप में विकसित करने का कार्य करेंगे ताकि श्रद्धालुओं को यहां आने में किसी भी प्रकार की कठिनाई का सामना करना ना पड़े साथ ही इस बालोद दल्लीराजहरा कोकानघाट बूढ़ादेव धाम को पूरे देश मे अब पहचान दिलाने का कार्य अब निरन्तर चलते रहेगा।

advertisement
advertisement
advertisement
RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments

advertisement
advertisement
advertisement

Most Popular

Recent Comments

advertisement
%d bloggers like this: